Thursday, September 24, 2009

सरस्वती

सर

4 comments:

  1. सिर्फ चित्र?...

    कोई बात नहीं ...चलेगा....जय हो

    ReplyDelete
  2. Kund kalyanche dhawal har gala rulati
    shubr warn paridhane hawet sarsarati.
    Koopach surekh chitr.

    ReplyDelete
  3. यह चित्र मुझे पसंद आया और मैंने इसे एडिट करके नेट पर डालना चाहा सिर्फ इसलिए ही यह पोस्ट किया , इसे पोस्ट के रूप में सोच कर मैंने नहीं प्रेषित किया :-)

    ReplyDelete

आपकी टिप्पणिया मेरे लिए अनमोल हैं

"आरोही" की नयी पोस्ट पाए अपने ईमेल पर please Enter your email address

Delivered by FeedBurner