Tuesday, December 16, 2008

एक ऐसा भी रियलिटी शो ...........

रियलिटी शो .................एक ऐसा फार्मूला जो टीवी चेनल्स की टीआरपी बढ़ने में चेनल्स की मदद करता हैं,जिसमे बच्चो को हीरो और हेरोइन की तरह पेश किया जाता हैं,बड़ी बड़ी बातें की जाती हैं ,बड़े बड़े स्टार्स बुलवाए जाते हैं ,दिवाली,क्रिसमस पर भी शायद न की जाए इतनी चमक दमक इस शो में की जाती हैं ,कुछ झूठी बनावटी तारीफे की जाती हैं ,कुछ पूर्वनियोजित बहस हो जाती हैं,जज एक दुसरे पर टिका टिप्पणी करते हैं,बच्चो की जरा सी गलती पर बढा चढाकर बुराई की जाती हैं ,इतना की कोई शिन्जनी सेन गुप्ता हमेशा के लिए आवाज़ खो देती हैं,तो कोई अपना आत्मविश्वास ,और जीन पर तारीफों की बौछार की जाती हैं,वो कोई एक संगीत दुनिया का चमकता सितारा बन जाता हैं ,इन सब में खासकर म्युजिकल रियलिटी शोज में संगीत कही नही रहता ,न बच्चे सुर में गाते हैं ,न सिखाने वाले सिखा पाते हैं ,रहती हैं तो सिर्फ़ बनावट ,दिखावट और सजावट।कुल मिलाकर रियलिटी शो ,रियलिटी शो न होकर ,बनावटी शो हो जाता हैं। लेकिन कहते हैं न आशा के सारे दरवाज़े बंद हो जाने पर भी एक दरवाज़ा कहीं न कहीं खुला होता हैं ,जो आशा की किरण अपने साथ ले आता हैं ,एक ऐसा ही रियलिटी शो मैं इन दिनों देख रही हूँ,वह हैं जी मराठी पर सोमवार ,मंगलवार रात ९:३० पर आने वाला मराठी सा रे ग म प , संचालन पल्लवी जोशी करती हैं ,वह जो भी कहती हैं एकदम सरल भाषा में ,सुंदर शब्दों में और उतना ही सत्य ,इस शो में जजेस एक दुसरे पर छीटा कशी नही करते ,नही प्रतियोगियों के बटवारे होते हैं , बच्चे अच्छा गाए तो जजेस मन से उनकी तारीफ करते हैं ,और जहाँ जो गलती हो उसे अच्छी तरह बच्चोको समझाते हैं। इस शो में बच्चे अपनी मासूम मुस्कराहट से,मधुर आवाज़ से और भोली बातों से जहाँ सबका दिल जीतते हैं वही उनके गायन की कोई तुलना नही की जा सकती,ये बच्चे जितना सुर में गाते हैं ,अच्छे अच्छे कलाकारों को लाइव प्रोग्राम मेंइतना सुरीला गाना कठिन जान पड़ता हैं , उनका आत्मविश्वास तो मानो दुनिया जीतने की ताकत रखता हैं,जब इस शो में आदरणीय शंकर महादेवन जी आए थे उस दिन बच्चो ने जिस मधुरता के साथ गाया मैं इन बच्चो की कलात्मकता और स्वर सिद्धि को देखकर मैं आनंद से रोने लगी ।मैं इस मराठी शो की तारीफे इसलिए नही कर रही क्योकि मैं मराठी हूँ ,बल्कि इसलिए कर रही हूँ क्योकि मैं एक संगीतकार, संगीत श्रोता ,और एक आम दर्शक हूँ । कभी अवसर मिले तो यह शो एक बार जरुर देखे जो सच्चे अर्थो में रियलिटी शो कहलाने का हक़दार हैं । इस लिंक पर जाए और इन बच्चो का गाना अवश्य सुने और इन्हे आशीर्वाद दे . http://www.zeemarathi.com/SRGMPLittleChamps2008/default.htm

9 comments:

  1. चलों कहीं तो रोशनी है!!

    ReplyDelete
  2. Good to listen that....Keep writing like this and share all the good information....

    ReplyDelete
  3. ये बढ़िया जानकारी है. रियल्टी शो का तो जो हाल है वो हम देख ही रहे हैं. लेकिन ऐसा शो जिसमें सबकुछ स्वाभाविक हो, ज़रूर सुकून देगा.

    ReplyDelete
  4. Very good to listen.
    We hope from you that you will succeed in your mission very soon. i pray for that.
    RAMESH SACHDEVA
    DIRECTOR OF HPS SR. SEC. SCHOOL
    09896081327
    EMAIL : hpsdabwali07@gmail.com

    ReplyDelete
  5. बहुत बढ़िया!

    ---------------
    चाँद, बादल और शाम
    http://prajapativinay.blogspot.com/

    ReplyDelete
  6. बहुत अच्छा िलखा है आपने । सच को बडी मािमॆकता से अभिव्यक्त किया है । साधुवाद । मैने अपने ब्लाग पर एक लेख िलखा है-आत्मिवश्वास के सहारे जीतें िजंदगी की जंग-समय हो तो पढें और अपनी राय भी दें-

    http://www.ashokvichar.blogspot.com

    ReplyDelete
  7. रियल्टी शो बच्चो पर ??? कब पढे गे यह बच्चे ?? हमारे यहा बभी आता है एक रियल्टी शो बच्चो पर जिस मे बच्चो से गीत गवाये जाते है, नाच नचाया जाता है, ओर उन के दिल तोडे जाते है... ना बाबा ना.... यह सब सिर्फ़ भारत है ही हो सकता है.धन्यवाद
    आप दुवारा दिया लिंक कल देखूगा.

    ReplyDelete

आपकी टिप्पणिया मेरे लिए अनमोल हैं

"आरोही" की नयी पोस्ट पाए अपने ईमेल पर please Enter your email address

Delivered by FeedBurner